इतिहास फ्री टेस्ट : TGT PGT – 3

  • Post category:History

इतिहास ऑनलाइन टेस्ट, SSC इतिहास , TGT PGT इतिहास , UPSSSC History , Modern History , भारतीय इतिहास , MCQ, इतिहास ,UPSI History , स्वतंत्रता संग्राम ,UPPSC इतिहास , फ्री ऑनलाइन टेस्ट , इतिहास क्विज , History online test , History Online Test For TGT – PGT , इतिहास टेस्ट सीरीज , इतिहास Mock Test

टेस्ट की जानकारी

यह टेस्ट इतिहास की जानकारी के लिए उपयोगी है , इस टेस्ट में शामिल प्रश्नों के सही उत्तर आपको टेस्ट समाप्त होने के बाद स्वतः ही मिल जायेंगे ! टेस्ट प्रारंभ करने के लिए स्टार्ट टेस्ट बटन पर टैप करें !

प्रमुख प्रश्न –

भागवत संप्रदाय में भक्ति के रूपों की संख्या है

निम्नलिखित में से किस देवता को कला में हल लिए प्रदर्शित किया गया है

वासुदेव कृष्ण की पूजा सर्वप्रथम किसने प्रारंभ की

निम्न में से किस ग्रंथ में सर्वप्रथम देवकी के पुत्र कृष्ण का वर्णन किया गया है

भागवत धर्म के प्रवर्तक थे

भागवत संप्रदाय के विकास में किसका योगदान अत्यधिक था

निम्नलिखित में से कौन अलवार संत नहीं था

नयनार कौन थे

नयनार कौन थे

अर्धनारीश्वर मूर्ति में आधा शिव तथा आधा पार्वती प्रतीक है

निम्नलिखित में से कौन सा प्राचीन भारत में शैव संप्रदाय था

प्राचीन भारत के विश्वोत्पत्ति विषयक धारणाओं के अनुसार चार युगों के चक्र का क्रम इस प्रकार है

महान धार्मिक घटना, महामस्तकाभिषेक, निम्नलिखित में से किससे संबंधित है और किसके लिए की जाती है

श्रवणबेलगोला में गोमतेश्वर की विशाल प्रतिमा किसने स्थापित करवाई थी

निम्नलिखित में से कौनसा एक कथन सही नहीं है

उत्तर प्रदेश में बौद्ध एवं जैन इन दोनों की प्रसिद्ध तीर्थस्थली है

बराबर की गुफाओं का उपयोग किसने आश्रयगृह के रूप में किया

संप्रदाय जो नियति की अटलता में विश्वास करता था

निम्नलिखित में से किसने प्रतिपादित किया कि भाग्य ही सब कुछ निर्धारित करता है, मनुष्य असमर्थ होता है

आजीवक संप्रदाय के संस्थापक थे

समाधि मरण किस दर्शन से संबंधित है

प्राचीन जैन धर्म के संबंध में निम्नलिखित कथनों में से कौन सा एक सही है

किस जैनसभा में अंतिम रूप से श्वेतांबर आगम का संपादन हुआ

महावीर का प्रथम अनुयायी कौन था

भगवान महावीर का प्रथम शिष्य था

जैन संप्रदाय में प्रथम विभाजन के समय ‘श्वेतांबर संप्रदाय’ के संस्थापक थे

निम्नलिखित में से कौन सा आरंभिक जैन साहित्य का भाग नहीं है

निम्नलिखित में से कौन सा स्थल पार्श्वनाथ से संबद्ध होने के कारण जैनसिद्ध क्षेत्र माना जाता है

प्रारंभिक जैन साहित्य निम्नलिखित में से किस भाषा में लिखे गए

निम्नलिखित में से कौन सबसे पूर्वकालिक जैन ग्रंथ कहलाता है

यापनीय किसका एक संप्रदाय था

जैन धर्म का आधारभूत बिंदु है

निम्नलिखित में से कौन सा धर्म ‘विश्व में विनाशकारी प्रलय’ की अवधारणा में विश्वास नहीं करता

अनेकांतवाद निम्नलिखित में से किसका क्रोड सिद्धांत एवं दर्शन है

जैन दर्शन के अनुसार सृष्टि की रचना एवं पालन पोषण

स्यादवाद सिद्धांत है

अणुव्रत सिद्धांत का प्रतिपादन किया था

त्रिरत्न सिद्धांत सम्यक धारण, सम्यक चरित्र एवं सम्यक ज्ञान जिस धर्म की महिमा है, वह है

जैन धर्म में ‘पूर्णज्ञान’ के लिए क्या शब्द है

प्रभासगिरी जिनका तीर्थ स्थल है वे हैं

निम्नलिखित में से कौन एक ‘जैन तीर्थंकर’ नहीं था

जैन तीर्थंकरों के क्रम में ‘अंतिम’ कौन था

तीर्थंकर शब्द संबंधित है

महावीर जैन की मृत्यु निम्नलिखित में से किस नगर में हुई

कुंडलपुर जन्म स्थान है

महावीर स्वामी का जन्म कहां हुआ था

जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ निम्नलिखित स्थानों में से मुख्यतः किससे संबंधित थे

जैन धर्म के ‘प्रथम तीर्थंकर’ कौन थे

जैन धर्म के संस्थापक हैं

ऋग्वैदिक काल में निष्क शब्द का प्रयोग एक आभूषण के लिए होता था किन्तु परवर्ती काल में उसका प्रयोग इस अर्थ में हुआ

156

history

History TGT PGT – 3

टीजीटी पीजीटी के लिए 50 उपयोगी प्रश्नों की टेस्ट सीरीज

ऑनलाइन टेस्ट देकर अपनी तैयारी को आगे बढ़ायें !

1 / 50

निम्न में से किस ग्रंथ में सर्वप्रथम देवकी के पुत्र कृष्ण का वर्णन किया गया है –

2 / 50

जैन धर्म के ‘प्रथम तीर्थंकर’ कौन थे –

3 / 50

स्यादवाद सिद्धांत है –

4 / 50

महावीर का प्रथम अनुयायी कौन था –

5 / 50

निम्नलिखित में से कौन अलवार संत नहीं था –

6 / 50

निम्नलिखित में से कौन सा स्थल पार्श्वनाथ से संबद्ध होने के कारण जैन-सिद्ध क्षेत्र माना जाता है –

7 / 50

किस जैनसभा में अंतिम रूप से श्वेतांबर आगम का संपादन हुआ –

8 / 50

संप्रदाय जो नियति की अटलता में विश्वास करता था –

9 / 50

नयनार कौन थे –

10 / 50

जैन धर्म का आधारभूत बिंदु है –

11 / 50

निम्नलिखित में से कौन सा आरंभिक जैन साहित्य का भाग नहीं है –

12 / 50

महावीर स्वामी का जन्म कहां हुआ था –

13 / 50

यापनीय किसका एक संप्रदाय था –

14 / 50

उत्तर प्रदेश में बौद्ध एवं जैन इन दोनों की प्रसिद्ध तीर्थस्थली है –

15 / 50

बराबर की गुफाओं का उपयोग किसने आश्रयगृह के रूप में किया –

16 / 50

भागवत धर्म के प्रवर्तक थे –

17 / 50

प्रारंभिक जैन साहित्य निम्नलिखित में से किस भाषा में लिखे गए –

18 / 50

वासुदेव कृष्ण की पूजा सर्वप्रथम किसने प्रारंभ की –

19 / 50

जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ निम्नलिखित स्थानों में से मुख्यतः किससे संबंधित थे –

20 / 50

समाधि मरण किस दर्शन से संबंधित है –

21 / 50

निम्नलिखित में से कौन एक ‘जैन तीर्थंकर’ नहीं था –

22 / 50

निम्नलिखित में से कौन सा धर्म ‘विश्व में विनाशकारी प्रलय’ की अवधारणा में विश्वास नहीं करता –

23 / 50

निम्नलिखित में से कौन सा प्राचीन भारत में शैव संप्रदाय था –

24 / 50

निम्नलिखित में से कौन सबसे पूर्वकालिक जैन ग्रंथ कहलाता है –

25 / 50

जैन धर्म के संस्थापक हैं –

26 / 50

अणुव्रत सिद्धांत का प्रतिपादन किया था –

27 / 50

जैन दर्शन के अनुसार सृष्टि की रचना एवं पालन पोषण –

28 / 50

कुंडलपुर जन्म स्थान है –

29 / 50

ऋग्वैदिक काल में निष्क शब्द का प्रयोग एक आभूषण के लिए होता था किन्तु परवर्ती काल में उसका प्रयोग इस अर्थ में हुआ

30 / 50

निम्नलिखित में से किस देवता को कला में हल लिए प्रदर्शित किया गया है –

31 / 50

महावीर जैन की मृत्यु निम्नलिखित में से किस नगर में हुई –

32 / 50

भागवत संप्रदाय के विकास में किसका योगदान अत्यधिक था –

33 / 50

प्राचीन भारत के विश्वोत्पत्ति विषयक धारणाओं के अनुसार चार युगों के चक्र का क्रम इस प्रकार है –

34 / 50

भागवत संप्रदाय में भक्ति के रूपों की संख्या है –

35 / 50

प्रभासगिरी जिनका तीर्थ स्थल है वे हैं –

36 / 50

महान धार्मिक घटना, महामस्तकाभिषेक, निम्नलिखित में से किससे संबंधित है और किसके लिए की जाती है –

37 / 50

जैन धर्म में ‘पूर्णज्ञान’ के लिए क्या शब्द है –

38 / 50

जैन संप्रदाय में प्रथम विभाजन के समय ‘श्वेतांबर संप्रदाय’ के संस्थापक थे –

39 / 50

भगवान महावीर का प्रथम शिष्य था –

40 / 50

नयनार कौन थे –

41 / 50

आजीवक संप्रदाय के संस्थापक थे –

42 / 50

त्रिरत्न सिद्धांत सम्यक धारण, सम्यक चरित्र एवं सम्यक ज्ञान जिस धर्म की महिमा है, वह है –

43 / 50

प्राचीन जैन धर्म के संबंध में निम्नलिखित कथनों में से कौन सा एक सही है –

44 / 50

अनेकांतवाद निम्नलिखित में से किसका क्रोड सिद्धांत एवं दर्शन है –

45 / 50

तीर्थंकर शब्द संबंधित है –

46 / 50

निम्नलिखित में से किसने प्रतिपादित किया कि भाग्य ही सब कुछ निर्धारित करता है, मनुष्य असमर्थ होता है –

47 / 50

अर्धनारीश्वर मूर्ति में आधा शिव तथा आधा पार्वती प्रतीक है –

48 / 50

निम्नलिखित में से कौन-सा एक कथन सही नहीं है –

49 / 50

श्रवणबेलगोला में गोमतेश्वर की विशाल प्रतिमा किसने स्थापित करवाई थी –

50 / 50

जैन तीर्थंकरों के क्रम में ‘अंतिम’ कौन था –

टेस्ट का रिजल्ट देखने के लिए कृपया अपना नाम भरें !

Your score is

0%