TGT PGT Hindi – 4

  • Post category:Hindi

टीजीटी पीजीटी हिन्दी ऑनलाइन टेस्ट, TGT PGT हिन्दी , हिन्दी साहित्य , UPSI Hindi , UPPSC हिन्दी , फ्री ऑनलाइन टेस्ट , हिन्दी क्विज , Hindi online test , Hindi Online Test For TGT – PGT , हिन्दी टेस्ट सीरीज , हिन्दी Mock Test

टेस्ट की जानकारी

यह टेस्ट टीजीटी पीजीटी हिन्दी और सरकारी परीक्षाओं के लिए उपयोगी है , इस टेस्ट में शामिल प्रश्नों के सही उत्तर आपको टेस्ट समाप्त होने के बाद स्वतः ही मिल जायेंगे ! टेस्ट प्रारंभ करने के लिए स्टार्ट टेस्ट बटन पर टैप करें !

प्रमुख प्रश्न सूची

आदिकाल के लिए बीजवपन काल नामकरण किसने किया है

आदिकाल को बीजवपन काल नाम किसने दिया

आदिकालीन हिंदी साहित्य को सिद्ध सामंत काल कहने वाले विद्वान का नाम है

आदिकाल को सिद्ध सामंत युग कहा है

हिंदी के प्रारंभिक काल को वीरगाथा काल का नाम किसने दिया

किस विद्वान ने हिंदी साहित्य के प्रारंभिक काल को वीरगाथा काल नाम दिया

हिंदी के प्रथम गद्यकार हैं

आधुनिक हिंदी साहित्य के इतिहास में राजा द्वय के नाम से विख्यात दो रचनाकार हैं

खड़ी बोली की पहली रचना है

योगवाशिष्ठ के लेखक हैं

मीराबाई का मलार किसकी कृति है

भ्रमरगीत परंपरा में भँवरगीत की रचना की है

सुदामाचरित के लेखक हैं

नंददास किस काव्यधारा से संबंधित है

भक्ति काल के किस कवि को जडिया विशेषण से विभूषित किया जाता है

प्रेम वाटिका नामक ग्रंथ रचित है

सैय्यद इब्राहीम का कविनाम है

इनमें से सूर की रचना कौन सी नहीं है

सूरसागर किस भाषा की कृति है

इनमें से सूरदास की कृति कौन सी है

महादेवी वर्मा का प्रथम काव्य संकलन है

नीहार की रचना किसने की है

निम्न में से कौन सी रचना महादेवी वर्मा की नहीं है

इनमें से कौन सी कृति जयशंकर प्रसाद की नहीं है

निम्नलिखित में से किस कृति के लेखक जयशंकर प्रसाद नहीं है

आँसू है

जयशंकर प्रसाद की किस कृति को पहले ब्रजभाषा में तथा बाद में खड़ी बोली में रूपांतरित कर दिया गया

कामायनी को छायावाद का उपनिषद किसने कहा है

जयशंकर प्रसाद की कामायनी की भाषा है

छायावाद में वक्रता का वैभव मिलता है। प्रसाद के काव्य में निम्नलिखित में से किसका उत्कर्ष मिलता है

43

TGT PGT Hindi

Hindi TGT PGT – 4

हिन्दी विषय के प्रश्नों का ऑनलाइन टेस्ट

30 प्रश्न सही उत्तरों के साथ

टेस्ट देने के लिए Start बटन पर टैप करें

1 / 30

भ्रमरगीत परंपरा में भँवरगीत की रचना की है –

2 / 30

मीराबाई का मलार किसकी कृति है –

3 / 30

योगवाशिष्ठ के लेखक हैं –

4 / 30

नीहार की रचना किसने की है –

5 / 30

आदिकाल को बीजवपन काल नाम किसने दिया –

6 / 30

जयशंकर प्रसाद की कामायनी की भाषा है –

7 / 30

निम्न में से कौन सी रचना महादेवी वर्मा की नहीं है –

8 / 30

महादेवी वर्मा का प्रथम काव्य संकलन है –

9 / 30

इनमें से सूरदास की कृति कौन सी है –

10 / 30

इनमें से कौन सी कृति जयशंकर प्रसाद की नहीं है –

11 / 30

कामायनी को छायावाद का उपनिषद किसने कहा है –

12 / 30

आदिकाल के लिए बीजवपन काल नामकरण किसने किया है –

13 / 30

जयशंकर प्रसाद की किस कृति को पहले ब्रजभाषा में तथा बाद में खड़ी बोली में रूपांतरित कर दिया गया –

14 / 30

आदिकाल को सिद्ध सामंत युग कहा है –

15 / 30

प्रेम वाटिका नामक ग्रंथ रचित है –

16 / 30

हिंदी के प्रारंभिक काल को वीरगाथा काल का नाम किसने दिया –

17 / 30

आधुनिक हिंदी साहित्य के इतिहास में राजा द्वय के नाम से विख्यात दो रचनाकार हैं –

18 / 30

खड़ी बोली की पहली रचना है –

19 / 30

सुदामाचरित के लेखक हैं –

20 / 30

आदिकालीन हिंदी साहित्य को सिद्ध सामंत काल कहने वाले विद्वान का नाम है –

21 / 30

छायावाद में वक्रता का वैभव मिलता है। प्रसाद के काव्य में निम्नलिखित में से किसका उत्कर्ष मिलता है –

22 / 30

आँसू है –

23 / 30

भक्ति काल के किस कवि को जडिया विशेषण से विभूषित किया जाता है –

24 / 30

किस विद्वान ने हिंदी साहित्य के प्रारंभिक काल को वीरगाथा काल नाम दिया –

25 / 30

निम्नलिखित में से किस कृति के लेखक जयशंकर प्रसाद नहीं है –

26 / 30

नंददास किस काव्यधारा से संबंधित है –

27 / 30

हिंदी के प्रथम गद्यकार हैं –

28 / 30

सैय्यद इब्राहीम का कविनाम है –

29 / 30

सूरसागर किस भाषा की कृति है –

30 / 30

इनमें से सूर की रचना कौन सी नहीं है –

टेस्ट का रिजल्ट देखने के लिए कृपया अपना नाम भरें !

Your score is

0%